30 जनवरी, 2009

गाँधी जी को नमन

अभी एक लेख पढ़ा गाँधी जी के बारे में पढ़ कर सोचना पड़ा की हम क्या कर रहे है
http://feeds.feedburner.com/~r/Bhadas/~3/526971499/blog-post_7574.html

गाँधी जी के बारे अब सही सुनने को कम ही मिलता है. लोगों को आज कल निंदा और बुराई करने आनंद आता है . लेकिन कुछ लोग है जो गाँधी को मानते है पर केवल मुखं से कर्म से नही. अब वो दिन दूर नही लगता जब लोग नाथू राम गोडसे को महान और गाँधी जी को चोर और व्यभिचारी बोलेगे .पता नही हमारा ये समाज और देश कहाँ जाना चाहता है .

1 टिप्पणी:

  1. गाँधी जी ने जो देश को दिया उसकी वैल्यू आज की पीढी को उतनी अच्छी तरह नहीं मालूम जितनी कि आजादी से पहले का भारत देख चुकी पीढी !

    उत्तर देंहटाएं

नमस्कार , आपकी टिप्पणी मेरे प्रयास को सार्थक बनाती हैं .