21 फ़रवरी, 2009

असम्भव कुछ भी नही

असम्भव कुछ भी नही बस आप में इक्क्षा शक्ति होनी चाहिए आप में कुछ खास है बस आप को उसे बहार निकलना है आप एक आम इन्सान से एक महान बन सकते है

२१ साल पहले आपने दादी के घर

आज एक आम कुर्सी से विश्व की सबसे बड़ी कुर्सी पर .

सोचना अभी से शुरू करिये कल बहुत देर हो जायेगी .

4 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत ही सुंदर, इच्छा शक्त्ति हो तो सब कुछ समभंब है.
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेशक........... हिम्मत करे इन्सान तो क्या हो नहीं सकता या हिम्मते मर्दां मददे खुदा..

    उत्तर देंहटाएं

नमस्कार , आपकी टिप्पणी मेरे प्रयास को सार्थक बनाती हैं .