16 मार्च, 2009

हनुमान जी और गणित

घर गया तो पता चला उ. प्र. बोर्ड की परीक्षा चल रही है. मेरे एक मित्र जो अध्यापक हैं रास्ते में मिल गए तो उनसे बात होने लगी तो उन्होंने एक किस्सा सुनाया।

एक लड़का था जो हाई स्कूल की परीक्षा में दो बार गणित विषय में फेल हो गया था । तीसरी बार जब वह गणित का पेपर देने जा रहा था तो सुबह - सुबह हनुमान जी के मंदिर में गया और हनुमान जी से बोला "हे बजरंग बली आज मेरा गणित का पेपर है, मैं दो बार से फेल हो रहा हूँ , इस बार भी पास होने की उम्मीद नहीं है, हे संकट मोचन मेरे को इस बार पास करवा दिजीये मैं आपको सवा किलो बेसन का लड्डू चढाऊंगा"।

परीक्षा कक्ष में पहुँच कर उसने हनुमान जी को याद किया और पेंसिल से सारे प्रश्न कापी में लिख दिए और नीचे लिखा "हे बजरंग बली मैने सारे सवाल पेंसिल से लिख दिए है , आप इसे मिटा के हल लिख दीजियेगा"।

जब परीक्षा का परिणाम आया तो इस बार भी वह गणित में फेल हो गया तो वह सीधे हनुमान जी के मंदिर में जाता है और बोलता है "क्या बजरंग बली , जब आप को भी गणित नहीं आती थी तो पहले बोलना था न , मैं किसी और भगवान से बोलता. एक साल और ख़राब कर दिए आप मेरा"

23 टिप्‍पणियां:

  1. हनुमानजी ने कब कहा था उन्हें गणित आती है ?

    उत्तर देंहटाएं
  2. हनुमान जी के भरोसे रहने की बजाए अगर कृ्ष्ण जी की खुशामद करता तो शायद पास भी हो जाता......भई गणित में निपुण देवता तो वो ही हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  3. गलत जगह गुहार लगाने से यही होता है।
    घुघूती बासूती

    उत्तर देंहटाएं
  4. हम भी ऐसा ही करते थे। गिनती में आज भी मात खा जाते हैं। अपनी उन कोशिशें पर आज हंसी आती है, वे सब बचकानी लगती हैं। किन्‍तु हनुमानजी के मन्दिर पर भीड आज भी जस की तस है। असली परीक्षा तो हनुमानजी की हो रही है।

    उत्तर देंहटाएं
  5. अरे नहीं भई हमने सुन रखा है कि हनुमान जी को संगीत और गणित दोनों में महारत थी!

    ---
    गुलाबी कोंपलें

    उत्तर देंहटाएं
  6. अच्छा, तो इसी कारण मेरे भी गणित में हमेशा कम नंबर आते थे.
    मैं भी हनुमान जी के ही मंदिर जाता था.

    उत्तर देंहटाएं
  7. भाई हमसे पूछ लेना था ना पहले. हमको भी हनुमानजी का मालूम था कि वो गणित मे हम से भी कमजोर हैं.

    हमे भी सौ मे से तीन नम्बर दिलवाये थे हनुमान जी ने एक बार.

    और परसाद भी हमने सवा पांच आने का बोला था उस सस्ते जमाने में.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  8. अरे हम से पुछना था, हनुमान जी तो खुद भगवान राम की सिफ़रिश से पास हुये थे.
    अगली बार साई बाबा के पास जाये, वो हिसाब मै पुरा पक्का है, साल का कोई डर नही उम्र पडी है,

    उत्तर देंहटाएं
  9. हनुमान जी ने प्रगट हो कर कहा नही.......मेरा काम लंका जलाना है, ग्णित नही

    उत्तर देंहटाएं
  10. kya sarkaar....!!! aapne to hanuman ji ki pol kholdi....hanste hanste lot pot ho gaye..

    उत्तर देंहटाएं
  11. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  12. कामचोरों , आलसियों, और मतलबियों के ईश्वर सहायक नहीं हैं, बिना तप कुछ नहीं मिलता, प्रयास से ही सफलता मिलती है, गणित तो दूर, मूर्ख तो प्रयास करना भी नहीं जानते और ईश्वर को दोष देते हैं !! श्रीराम ने स्वयं हनुमान जी को सर्वविद्या विशारद कहा है......

    उत्तर देंहटाएं
  13. hamesha bhakti kari hoti hanumanji ki. vo tujhe har sankat se nikal lete. apne bhakto ka har sankat dur karte hai. tere bhakti me kami hogi.

    उत्तर देंहटाएं
  14. Alok bhai koi dhang ka kaam bhi kiya karo, aisi manghandant kahani likhna band karo.....aur baki jo bhagwan ke bare mein likhe hain khud class 3 mein maths mein fail hain....

    उत्तर देंहटाएं
  15. me to ye kehta hu hanuman ji se he hanuman mene methe nahi li krpya mujhe paas kara dena ji haniman

    उत्तर देंहटाएं

नमस्कार , आपकी टिप्पणी मेरे प्रयास को सार्थक बनाती हैं .