23 मार्च, 2009

दर्द क्या है

एक बार बहुत से लोगों ने एक सभा का आयोजन किया, विषय था दर्द क्या है। हर कोई अपनी राय देने के लिए स्वतंत्र था।

पहले एक डाक्टर महोदय आये और बोले "दर्द मांसपेशियों में खिचाव के कारण उत्पन होता है "।

कवि महोदय आये और बोले "दर्द एक अहसास है जो कविता को जन्म देता है "।

एक प्रेमी बोला "दर्द प्रेमिका की जुदाई से होता है "।

एक ब्लोगर बोले "लेख बड़ी मेहनत से लिखो और उसपे टिप्पणी न मिले तो दर्द होता है "।

एक विचारक बोले "दर्द वो है जो आनंद के न होने पर हम महसूस करते है "।

एक अभिनेता बोले "दर्द वो है जो पहले ही हप्ते फिल्म के फ्लाप होने पर होता है "।

एक छात्र बोला "दर्द परीक्षा में फेल होने पर होता है"।

शराबी बोला "दर्द वो है जो भरी बोतल के टूटने पर होता है "।

एक प्रोग्रामर बोला "दर्द वो है जब एक खुबसूरत लड़की मेरे प्रोजेक्ट को ज्वाइन करना चाहती है और प्रोजेक्ट मेनेजर मना कर देता है"।

एक महिला बोली "दर्द तब होता है जब मुझसे कम पैसे दे कर मेरी पडोसन वही साडी खरीद लाती है"।

अब हर कोई अलग-अलग तरह से दर्द की व्याख्या कर रहे थे, जब कई घंटे गुजर गए तो हमारे ताऊ से नहीं रहा गया। उन्होंने अपना लट्ठ उठाया और बजाना शुरू कर दिया, जब सब चिल्लाने लगे, तो ताऊ बोले अब दर्द समझ में आया या फिर से बताऊँ। सब बोले नहीं हमे समझ में आ गया। ताऊ बोले "जब तक दर्द होगा नही तब तक पता कैसे चलेगा, लट्ठ पड़ी तो सबको पता चल गया की दर्द कैसा होता है "।

9 टिप्‍पणियां:

  1. हा हा हा ...ताऊ का लट्ठ पड़ते ही सब सुधर गए ....दर्द के मारे

    मेरी कलम - मेरी अभिव्यक्ति

    उत्तर देंहटाएं
  2. दर्द की विविधता की व्याख्या (मानसिक) जो वास्तविकता (शारीरिक) पर आकर रुक रही है हमें भी धरातल पर ले आई. आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  3. भाई अच्छी जगह लेजाकर फ़ंसाया. आप और आपके ताऊ. जो नही करदें वो कम है.:)

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  4. ha ha dard ke definations bhi khub rahe:),tau ji kilathi se sabhi darte hai,aapke blog ki baki post bhi padhe,surendra ji ke railyway aur sabunwala kissa aur newton:),kya hum haste haste thak gaye,itani muskuraahate dene ke liye shukran,shandar blog hai.

    उत्तर देंहटाएं
  5. वाह आलोक जी.........
    दर्द का साख्शात अनुभव करा दिया ताऊ ने ................
    क्या अंदाज है

    उत्तर देंहटाएं
  6. आलोक भाई यह लठ्ठ तो ताई के पास था, जो स्पेशल ताऊ के लिये ही है (ताई इस लठ्ठ से ताऊ को मांजती है)तो अब लठ्ठ ताऊ के पास केसे आ गया? शायद वो दर्द का अहसास दिलाने लाया होगा.
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  7. अलोक भाई आपने जो दर्द के कारण दिए वो ज्यादा असरदार है. पर ताऊ का लट्ठ जानदार रहा.

    उत्तर देंहटाएं

नमस्कार , आपकी टिप्पणी मेरे प्रयास को सार्थक बनाती हैं .